शिक्षक दिवस पर गरीब बच्चों को पुस्तक सामग्री

Reproduced by Wordforpeace.com

अजमेर,6 सितंबर।
मुस्लिम छात्रों और नोजवानो के अखिल भारतीय संगठन मुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन ऑफ़ इंडिया अजमेर की और से शिक्षक दिवस के दिन अजमेर के करीब किशनगढ़ में एक सर्वे किया गया जिसमे गरीब और दलित वर्ग के बच्चो से रुबरु हुए जिससे उनके अंदर की शिक्षा की पाने की ललक देखी उनके माता पिता का कहना था की हमने तो अपना जीवन नरक बना लिया है मगर हम अपने बच्चो को पढना चाहती है मगर हमारे बच्चो को स्कूल में एडमिशन नहीं मिलता और न ही हमारे पास पढाई करवाने के पैसे है उन्होंने यहाँ तक कहा की आप जैसे लोग रोज़ आकर एक-दो घंटे हमारे बच्चो को पढ़ा दे तो इनका जीवन सुधर जायगा !

इस पर एम्एसऔ अजमेर की टीम ने उन को पाठ्य सामग्री वितरित की और जल्द हे हमारे मेंबर उनको एजुकेशन देंगे और स्कूल में अड्मिशन भी करवाएंगे.

इस मौके पर एम्एसऔ के प्रदेश महासचिव इरफ़ान अली ने बताया की एम्एसऔ हमेशा हर कदम पे गरीबो के साथ है ये बात अलग है की कुछ लोग समाज में शोहरत पाने के लिए समाज के गरीब और पिछड़े वर्ग का सहारा लेते है
गौरतलब है की एम्एसऔ ने ईद के मुबारक मौके पर भी ४० गरिब और अन्य पिछड़ा वर्ग के बच्चो के साथ ईद मनाई थी ,उनके साथ समय बिताया था और उनके जरुरत मंद बच्चो को स्टेशनरी का सामान भी दिया जिसको पाकर उनके मासूम चेहरो पे एक ख़ुशी की लहर दौड़ गयी थी
इस मुबारक मौके पर अजमेर के नजदीक स्तिथ बंदिया गांव में एक कैम्पैन चला रही कॉलेज छात्रा (सेव गर्ल चाइल्ड) को भी सम्मानित किया गया था
आज मुल्क में एम्एसऔ ही एक इस छात्रों का संगठन है जो किसी धर्म वर्ग में भेदभाव नही करता बल्कि समाज और देश के सामाजिक शैक्षिक विकास के लिए हमेशा आगे रहता है

Check Also

‘Do As I Say, Not As I Do’ Hypocrisy from the UN Commissioner for Human Rights

WordForPeace.com By Dan Cadman Zeid Ra’ad al-Hussein, the United Nations High Commissioner for Human Rights, has …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *